गेन बिटकॉइन का अमित भारद्वाज बैंकाक में गिरफ्तार 2000 करोड़ का फ्रॉड का इल्जाम

0
454

अमित भरद्वाज जो गेन बिटकॉइन नाम की क्रिप्टो करेंसी एम कैप का मालिक था उसे थाईलैंड पुलिस द्वारा बैंकाक से गिरफ्तार किया गया है और उसे पुणे लाया जा रहा है| अमित के ऊपर गेन बिटकॉइन के जरिये लाखो निवेशको के २००० करोड़ ठगने का आरोप है, उसकी देश के कई राज्यों में क्रिप्टो करेंसी फ्रॉड के मामले में पिछले कुछ समय से पुलिस को तलाश थी |

अमित भरद्वाज ने कुछ समय पहले गेन बिटकॉइन के नाम से एक वेबसाइट शुरू की जिसमे निवेशको को बिटकॉइन के भारतीय रूपये मूल्य के बराबर या उसके मल्टिप्ल में निवेश करना होता था फिर उसके एवाज़ में अमित की गेन बिटकॉइन निवेशको को 10% मासिक बिटकॉइन के रूप में १८ महीने तक देती थी, इससे निवेशको का पैसा 18 महीने में 180% होना मिनिमम ते था| स्कीम की खूबसूरती यह बताई जाती थी गेन बिटकॉइन वापिसी पैसे के बदले बिटकॉइन देगा जिसकी बाज़ार मूल्य दिन दुगुनी रत चोगुनी बढ़ रही है यह मुनाफा 80% लाभ के इलावा बिटकॉइन के बाज़ार मूल्य पर निर्धत्रित करेगा| जिसमे दावा किया गया था की कई निवेशको को महीन के ७००% तक फायदा हुआ है |

इस स्कीम को समझाने के लिए और विश्वास दिलाने के लिए नामी 5 सितारा होटल में पार्टी और सेमिनार किये जाते थे जिससे निवेशको में विश्वास जगाया जा सके| शुरुवात में स्कीम के मुताबिक लोगो को पैसे के बदले बिटकॉइन दिए गए और जो मुनाफा तह था उससे भी कही ज्यादा निवेशको को मिला क्योकि बिटकॉइन का बाज़ार भाव बहुत तेज़ी से बढ़ा| स्कीम में लोगो का विश्वास बहुत जैम गया और देश के कोने कोने और विदेशो मैं भी गेन बिटकॉइन के हजारो निवेशक जुट गए| इसको तेज़ी से आगे बढ़ाने के किये नेटवर्क मार्केटिंग का सहारा भी लिया गया जिसमे नए निवेशको को लेन से पुराने निवेशको को मोटा कमीशन दिया जाता था |

Custom Text

गेन बिटकॉइन की सफलता के बाद अमित भरद्वाज ने mcap नाम से अपनी बिटकॉइन जैसी क्रिप्टो करेंसी बाज़ार में उतर दी जिसकी बाज़ार मूल्य 5 डॉलर प्रति सिक्के के हिसाब से देने तह हुआ और निवेशको को बिटकॉइन की बजाये mcap कमीशन के रूप में देने का आप्शन भी दिया गया और बताया गया की 5 डॉलर का mcap कुछ ही दिनों मैं बित्कोइन की तरह हजारो डालर प्रति कॉइन हो जायेगा|

निवेशको ने अपने बिटकॉइन के बदले mcap कॉइन दिए गए और कुछ समय बाद उसका मूल्य घाट कर लगभग शून्य के बराबर हो गया तब जाकर निवेशको को यह एक सोची समझी ठगी का एह्ह्सास हुआ तो कुछ निवेशको ने इसकी शिकायत पुलिस में करनी शुरू की | जैसे ही इस बात का पता अमित भरद्वाज को लगा वह अपने कुछ खास लोगो के साथ दुबई में रहने लगा |

जैसे जैसे निवेशको की शिकायते पुलिस तक पहुच रही थी वैसे वैसे पुलिस पर अमित को गिरफ्तार करने का दबाव बढ़ता जा रहा था पर देश में न होने के कारण सरकार को दुबई पुलिस से सहायता लेनी पड़ी इससे पहले की दुबई पुलिस अमित को गिरफ्तार करके भारत को सोपती अमित दिल का दौरा के इलाज़ का बहाना करके दुबई से थाईलैंड की राजधानी bangkok पहुच गया |

फिर सरकार को थाईलैंड सरकार से मदत लेकर अमित को bangkok में गिरफ्तार किया गया और उससे अब bangkok से पुणे लाया जा रहा है गेन बिटकॉइन में निवेशको के २००० करोड़ रूपये डूबने का अनुमान लगाया जा रहा है|

Filter:AllOpenResolvedClosedUnanswered
AnsweredRAMESH​ RAMAN asked 4 months ago • 
134 views1 answers0 votes
OpenPankaj kumawat asked 4 months ago • 
199 views0 answers0 votes
AnsweredVIJAY asked 8 months ago • 
188 views1 answers0 votes
AnsweredMeeghu eo asked 7 months ago • 
132 views1 answers0 votes
AnsweredAkash yadav asked 8 months ago • 
637 views1 answers0 votes
OpenNhl asked 9 months ago • 
243 views0 answers0 votes
AnsweredA K Jena asked 9 months ago • 
192 views1 answers0 votes
AnsweredShyam Sundar asked 9 months ago • 
375 views2 answers0 votes