क्या कंपनी का IDSA या DSA मेम्बर होना जरुरी है ?

40
2139

क्या डायरेक्ट सेल्लिंग (Direct Selling) कंपनी को इंडियन डायरेक्ट सेल्लिंग एसोसिएशन (IDSA) या किसी और डायरेक्ट सेल्लिंग एसोसिएशन (DSA) जैसे फेडरेशन ऑफ डायरेक्ट सेल्लिंग एसोसिएशन (FDSA) एम एल एम यूनियन (MLM Union) का सदस्य होना जरुरी है? तो जवाब है बिलकुल नहीं

IDSA, FDSA, MLM Union का सदस्य होना गौरव की बात है पर इसका सदस्य होना जरूरी नहीं .

यह सभी एसोसिएशन डायरेक्ट सेल्लिंग के व्यापार को करने वाली संस्थाओ ने मिल कर अपने अपने नियम के हिसाब से बनाई है इनमे से किसी का सरकार से कोई लेना देना नही, सभी एसोसिएशन निजी रूप से डायरेक्ट सेल्लिंग नेटवर्क मार्केटिंग व्यापार की भलाई के लिए कार्य कर रही |

निजी संस्था होने के बावजूद यह सभी सरकार को समय समय पर इस व्यापार में होंने वाली परेशानियों से सरकार को अवगत करवाती रहती है और सरकार भी इस व्यापार की प्रगति को लेकर इन सभी संस्थाओ से मार्ग दर्शन लेती रहती है |

सभी एसोसिएशन ने अपना मेंबर बनने की कुछ शर्तें रखी हुई है उन मापदंड को अपना कर आपकी कंपनी भी इन संस्थाओ के मेंबर बन सकते है |

Custom Text

मापदंड किस प्रकार से है उनमें से कुछ में लेख में अवगत करवा रहा हूँ बाकी यह मापदंड समय समय पर बदलते रहते है उनकी विस्तृत जानकारी उनकी वेबसाइट से प्राप्त की जा सकती है|

इंडियन डायरेक्ट सेल्लिंग एसोसिएशन (IDSA) का सदयस्ता के नियम:

1. कंपनी कम से कम 3 साल डायरेक्ट सेल्लिंग में काम कर चुकी हो|

2. कंपनी भारत सरकार के नियमो के अनुसार कार्य कर रही हो|

3. कंपनी का मार्केटिंग प्लान भारत सरकार द्वारा निर्धारित नियमो के अनुसार होना अनिवार्य है |

4. कंपनी की वितीय स्थिति मजबूत हो |

5. कंपनी अपने उत्पादों का स्वामित्व रखती हो |

6. कम्पनी के प्रमोटर्स पर कोई आपराधिक मामला न हो और न ही किसी आपराधिक मामले में दोषी करार दिए गए हो|

7. वार्षिक सदयस्यता शुल्क 5 लाख रुपए है |

फेडरेशन ऑफ डायरेक्ट सेल्लिंग एसोसिएशन (fdsa) का सदस्य बनने के नियम:

1. नई या पुरानी कंपनी डायरेक्ट सेल्लिंग में काम कर रही हो या करने में इछुक हो|

2. कंपनी भारत सरकार के नियमो के अनुसार कार्य कर रही हो|

3. कंपनी का मार्केटिंग प्लान भारत सरकार द्वारा निर्धारित नियमो के अनुसार होना अनिवार्य है |

4. कंपनी की वितीय स्थिति मजबूत हो |

5. कंपनी अपने उत्पादों का स्वामित्व रखती हो |

6. वार्षिक सदयस्यता शुल्क 2 लाख रुपए है |

एम एल एम यूनियन (MLM Union) सदस्य बनने के नियम:

1. कंपनी डायरेक्ट सेल्लिंग में काम कर रही हो|

2. कंपनी भारत सरकार के नियमो के अनुसार कार्य कर रही हो|

3. कंपनी का मार्केटिंग प्लान भारत सरकार द्वारा निर्धारित नियमो के अनुसार होना अनिवार्य है |

4. कंपनी की वितीय स्थिति मजबूत हो |

5. कंपनी अपने उत्पादों का स्वामित्व रखती हो |

6. कम्पनी के प्रमोटर्स पर कोई आपराधिक मामला न हो और न ही किसी आपराधिक मामले में दोषी करार दिए गए हो|

7. वार्षिक सदयस्यता शुल्क 50000 रुपए है |

इन संस्थानों से मान्यता प्राप्त कंपनिया साधारणतया सही कार्य कर रही होती है और डायरेक्ट सेलर और उपभोक्ताओं को अपनी रणनीति के अनुसार उत्पाद एवम कमीशन देती है परन्तु यह कोई सरकार द्वारा दिया गया सत्यापन नही होता | इसलिए डायरेक्ट सेल्लिंग का चुनाव करते वक्त कुछ बातों का दायां रखना जरूरी है जो मैंने अपने लेख में विस्तृत से बताया है उसे अवश्य एक बार पढ़े |
Filter:AllOpenResolvedClosedUnanswered
AnsweredRAMESH​ RAMAN asked 3 months ago • 
108 views1 answers0 votes
OpenPankaj kumawat asked 3 months ago • 
132 views0 answers0 votes
AnsweredVIJAY asked 6 months ago • 
165 views1 answers0 votes
AnsweredMeeghu eo asked 6 months ago • 
110 views1 answers0 votes
AnsweredAkash yadav asked 7 months ago • 
583 views1 answers0 votes
OpenNhl asked 7 months ago • 
206 views0 answers0 votes
AnsweredA K Jena asked 7 months ago • 
171 views1 answers0 votes
AnsweredShyam Sundar asked 8 months ago • 
326 views2 answers0 votes